Khari Khari News
News

पंजाब में कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक, ये होंगे पांच बड़े फायदे

पंजाब में चन्नी को सीएम बनाकर कांग्रेस ने खेला “मास्टर” स्ट्रोक

पहला दलित सीएम बनाने से कांग्रेस को 5 बड़े फायदे

कुलदीप श्योराण
चंडीगढ़। कांग्रेस ने पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी को पहला दलित सीएम बनाकर सभी विरोधी पार्टियों को चारों खाने “चित्त” कर दिया है।
कांग्रेस के इस “मास्टर” स्ट्रोक का किसी भी दूसरी पार्टी के पास कोई जवाब नहीं है। चन्नी को मुख्यमंत्री बनाकर कांग्रेस हाईकमान ने एक साथ बड़े पांच फायदे हासिल कर लिए हैं…


फायदा नंबर- 1
अमरिंदर सिंह की “बोलती” बंद..
चन्नी को सीएम बना कर कांग्रेस हाईकमान ने अमरिंदर सिंह की बोलती “बंद” कर दी है। पहला दलित सीएम बनाकर कांग्रेस हाईकमान ने अमरिंदर सिंह के कांग्रेस छोड़ने के सारे रास्ते “बंद” कर दिए हैं।
अगर अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस छोड़ी तो यही संदेश जाएगा कि दलित को सीएम बनाने के कारण वे खुश नहीं है। उन हालात में अमरिंदर सिंह की सियासत का सूपड़ा साफ हो जाएगा। इसी मजबूरी में अमरिंदर सिंह को चन्नी कै सीएम बनाने के फैसले का स्वागत करना पड़ा है।

फायदा नंबर- 2
दलित वोट बैंक कांग्रेस के “पाले” में..
पहला दलित सीएम बना कर कांग्रेस ने पंजाब के 30 फ़ीसदी दलित वोटबैंक को एक ही झटके में अपने “पाले”में में कर लिया है। दलित वोटबैंक की लामबंदी के कारण कांग्रेस के पंजाब में सत्ता में वापसी के प्रबल आसार हो गए हैं। दूसरे दलों के लिए अब दलित वोट हासिल करना बेहद मुश्किल होगा

फायदा नंबर- 3
सिद्धु का ट्रंप कार्ड “सेफ” रखा..
कांग्रेस हाईकमान ने जानबूझकर नवजोत सिद्धू को मुख्यमंत्री नहीं बनाया है। 5 महीने के लिए सिद्धू को मुख्यमंत्री बनाकर कांग्रेस हाईकमान “रिस्क” नहीं उठाना चाहता था क्योंकि मुख्यमंत्री बनने के 5 महीनों में किसी एक खराब फैसले या मामले के कारण सिद्धू की बनी बनाई इमेज खराब हो सकती थी। नवजोत सिद्दू आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सबसे बड़ा स्टार फेस है। चन्नी और सिद्धू की जुगलबंदी पंजाब में कांग्रेस की सत्ता में वापसी की गारंटी साबित होगी। कांग्रेस हाईकमान ने बेहद समझदारी दिखाते हुए नवजोत सिद्धू का ट्रंप कार्ड “महफूज” रख लिया है।

फायदा नंबर -4
बगावत का “खतरा” खत्म…
चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाकर कांग्रेस हाईकमान ने पंजाब में बगावत के खतरे को “ख़त्म” कर दिया है। सीएम बनने की दौड़ में कई बड़े नेता शामिल थे। किसी एक को सीएम बनाने ने के बाद अमरिंदर सिंह पार्टी में बगावत कराने में सफल हो सकते थे जिससे कांग्रेस का चुनाव में माहौल खराब होता। अब दलित वोट हासिल करने के लिए हर नेता ने हाईकमान के फैसले को अपने लिए “फायदेमंद” मानते हुए स्वीकार कर लिया है। अब कांग्रेस में बगावत करने की अमरेंद्र सिंह की कोई भी “मुहिम” सफल नहीं होगी।

फायदा नंबर- 5
विरोधी पार्टियों को “करारा” झटका…

कांग्रेस हाईकमान ने पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी को पहला दलित मुख्यमंत्री बना कर विरोधी दलों को “सकते” में डाल दिया है। आम आदमी पार्टी, अकाली दल और भाजपा दलित उपमुख्यमंत्री बनाने के सब्जबाग दिखा रहे थे लेकिन कांग्रेस ने सीधा पहला दलित मुख्यमंत्री बनाकर विरोधी दलों का सबसे बड़ा मुद्दा “छीन” लिया है। उनके पास कांग्रेस के इस मास्टर स्टॉक का कोई तोड़ नहीं है।

Related posts

लोकसभा की 7 सीटों पर नए प्रत्याशी उतारेगी कांग्रेस/ Congress looking for 7 new candidates in loksabha elections

kharikharinews

हरियाणा के हर जिले में जाएंगे ओपी चौटाला, जानिये क्या है कार्यक्रम, देखिये पूरा शेड्यूल

kharikharinews

केन्द्र सरकार का हरियाणा का आश्वासन,नही रहने दी जाएगी कोयलें की कमी

Mukshan Verma

Leave a Comment