Khari Khari News
News

अमरेंद्र की विदाई हुड्डा के लिए “बड़ा” झटका, प्रेशर पॉलिटिक्स के जरिए कांग्रेस हाईकमान को झुकाने के “मंसूबे” तार तार

अमरेंद्र की विदाई हुड्डा के लिए “बड़ा” झटका

प्रेशर पॉलिटिक्स के जरिए कांग्रेस हाईकमान को झुकाने के “मंसूबे” तार तार

अमरिंदर की तरह हाईकमान को झुकाने का “फार्मूला” हुआ फेल

पंजाब कांग्रेस में हुई उठापटक का हरियाणा कांग्रेस पर सीधा असर

कुलदीप श्योराण
चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस में आज हुई भारी उठापटक का हरियाणा कांग्रेश पर सीधा असर पड़ने जा रहा है। पंजाब के मुख्यमंत्री पद से अमरिंदर सिंह की विदाई कांग्रेस के उन बड़े दिग्गज नेताओं के लिए साफ चेतावनी है जो हाईकमान को प्रैशर पॉलिटिक्स के जरिए झुकाने का काम करते आ रहे थे।
हरियाणा की कांग्रेस सियासत में अमरिंदर सिंह की विदाई डिसाइडिंग फैक्टर साबित हो सकती है। अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री पद से हटने का सबसे बड़ा झटका हरियाणा में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा को लगा है।

प्रेशर पॉलिटिक्स का फार्मूला हुआ फेल
अमरिंदर सिंह लगातार प्रेशर पॉलिटिक्स के जरिए कांग्रेस हाईकमान पर दबाव बनाकर अपनी मनमानी करते आ रहे थे। नवजोत सिद्धू को पंजाब प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद भी अमरिंदर सिंह ने अपने हेकड़ी नहीं छोड़ी और चुनाव पर ध्यान देने की बजाय नवजोत सिद्धू को फेल करने का काम करते रहे।

हाईकमान के बार बार समझाने के बावजूद अमरिंदर सिंह सीधे रास्ते पर नहीं आ रहे थे। अमरिंदर सिंह के अड़ियल रवैए के कारण 5 महीने बाद होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए नुकसान के आसार बन गए थे।


ऐसे हालात में कांग्रेस हाईकमान को कड़ा फैसला लेते हुए अमरिंदर सिंह से इस्तीफा मांगने को मजबूर होना पड़ा। इस बार प्रेशर पॉलिटिक्स का फार्मूला अमरिंदर सिंह पर ही भारी पड़ा और अहंकार के चलते उन्हें कुर्सी से हाथ धोना पड़ा।

हरियाणा की सियासत पर सीधा असर

अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाए जाने का हरियाणा कांग्रेस पर सीधा असर पड़ने जा रहा है। अमरिंदर सिंह की तरह भूपेंद्र हुड्डा भी हरियाणा में कांग्रेस को अपने शिकंजे में लिए हुए थे हैं। 7 साल से उन्होंने हरियाणा में कांग्रेस का संगठन ही खड़ा नहीं होने दिया।

पहले अशोक तंवर और अब कुमारी शैलजा को अध्यक्ष पद पर फेल करने के लिए भूपेंद्र हुड्डा लगातार एक्टिव रहे। अभी भी भूपेंद्र हुड्डा शैलजा को हटवाकर अपने हाथों में प्रदेश कांग्रेस की कमान लेना चाहते हैं।

इसके लिए उन्होंने पिछले महीने समर्थक विधायकों को प्रदेश प्रभारी और संगठन सचिव के पास भेजकर शैलजा को हटाए जाने की मांग की थी जिसे हाईकमान ने नकार दिया था।
भूपेंद्र हुड्डा के लिए अब हरियाणा में प्रेशर पॉलिटिक्स का दांव खेलना मुमकिन नहीं होगा क्योंकि अगर उन्होंने ऐसा किया तो उन्हें भी भारी खामियाजा भुगतने को तैयार रहना पड़ेगा।

बदलनी पड़ेगी हुड्डा को रणनीति

पंजाब कांग्रेस में हुई उथल-पुथल के बाद अब हरियाणा में भूपेंद्र हुड्डा को अपनी रणनीति बदलनी पड़ेगी। वे अब प्रेशर पॉलिटिक्स के जरिए न तो कांग्रेस हाईकमान को नहीं झूका पाएंगे और ना ही कुमारी शैलजा को हटवा पाएंगे।
पंजाब कांग्रेसी में आज हुए घटनाक्रम ने बता दिया है कि भूपेंद्र हुड्डा के लिए अब कांग्रेस हाईकमान को दबाना और झुकाना मुमकिन नहीं होगा।

अगर उन्होंने कांग्रेस हाईकमान के निर्देशों का अनदेखा किया तो उनके लिए भी बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है।

खरी खरी बात यह है कि हरियाणा की सियासत पर पंजाब का सीधा असर पड़ता है। वीरभद्र सिंह और अमरेंद्र सिंह की तरह भूपेंद्र हुड्डा हरियाणा में कांग्रेस को अपने मनमाने तरीके से चला रहे थे।

भूपेंद्र हुड्डा को आंखों से आंखें मिला कर बात करने वाले नेता खटकते हैं। इसीलिए उन्होंने पहले अशोक तंवर को पूरी तरह से फेल किया और शैलजा के पीछे पड़े हुए हैं।

भूपेंद्र हुड्डा को प्रेशर पॉलिटिक्स का फार्मूला सबसे मनमाफिक लगता है क्योंकि इसके जरिए वे कांग्रेस हाईकमान को कई बार दबा चुके हैं और कई बार बेइज्जत कर चुके हैं।

पंजाब में अमरिंदर सिंह पर प्रेशर पॉलिटिक्स का फार्मूला “बैक फायर” करने के बाद भूपेंद्र हुड्डा अब दबाव की राजनीति के जरिए शैलजा को हटवा नहीं पाएंगे।

उन्हें उनके लिए मनमानी करने का रास्ता बंद हो गया है।
कांग्रेस हाईकमान का पंजाब में लगाया गया “धोबी पछाड़” दांव जहां अमरिंदर सिंह को चारों खाने चित कर गया है वही हरियाणा में भूपेंद्र हुड्डा के लिए खतरे की घंटी बजाने का काम कर गया है।

Related posts

निकिता हत्याकांड: पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का दिया आश्वासन

kharikharinews

Weather 30 August 2021- कल कहां-कहां पर होगी बारिश, देखें 24 घंटे का मौसम पूर्वानुमान

kharikharinews

केंद्र सरकार ने लोन लेने वालों को दी बड़ी राहत, चक्रवृद्धि ब्याज को माफ करने का किया एलान

kharikharinews

Leave a Comment