Khari Khari News
सरकारी योजनाएं हरियाणा

हरियाणा लाडली योजना: हर साल बेटियों को मिलेंगी 5000 रुपए की आर्थिक मदद, जानें पूरी प्रक्रिया

पंचकूला।।भारत में लड़कियों के अनुपात में सुधार लाने के लिए भारत सरकार समय-2 पर कई तरह की योजनाएं लेकर आती रहती है। इस विषय को लेकर केन्द्र सरकार ही नहीं अपितु राज्य सरकार भी स्थिति में सुधार लाने हेतु प्रयासरत हैं। इसी संबंध में हरियाणा सरकार द्वारा वर्ष 2005 में हरियाणा लाडली योजना की शुरुआत की गई थी।इस योजना के पीछे सरकार का उद्देश्य लड़कियों की जन्म-दर में वृद्धि करना था।
क्या है हरियाणा लाडली योजना
इस योजना का लाभ वह माता-पिता उठा सकते है जिनकी दो बेटियां ही संतान है और उनकी बेटी का जन्म 20 अगस्त,2005 या इसके बाद हुआ है।इस योजना के तहत बेटी और उसकी मां को सरकार किसान विकास पत्र के द्वारा हर साल 5000 रुपए की वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाएगी। यह राशि लड़की की 18 वर्ष आयु होने के बाद निकाली जाएगी। यदि लड़की की मां नहीं है तो यह पत्र पिता के नाम बनेगा।
हरियाणा लाडली योजना के फायदे
इस योजना का एक मुख्य उद्देश्य है कि 18 साल की होने के बाद यदि लड़की उच्च शिक्षा हासिल करना चाहें तो उसे किसी तरह की आर्थिक परेशानी ना झेलनी पड़े। यही नहीं इन पैसों को वो अपनी शादी के लिए भी खर्च कर सकती हैं।
यह योजना मुख्य रूप से उन मां-बाप के लिए है जिनकी दो बेटियां हैं। सरकार चाहती है कि लोग बेटियों को बोझ न समझें और उन्हें किसी तरह की आर्थिक परेशानी भी ना हो. इस योजना के जरिए सरकार महिलाओं व बेटियों को सशक्त बनाना चाहती है।
हरियाणा लाडली योजना की शर्तें
• हरियाणा निवासी- इस योजना का लाभ केवल उन्हीं बेटियों के परिवारों को मिल सकेगा जो मूल रुप से हरियाणा के रहने वाले हैं। जो परिवार लाडली योजना का लाभ उठाना चाहता है वह कम से कम पिछले 10 साल से हरियाणा में रह रहा हो।
• 2 लड़कियां ही संतान- योजना का लाभ उन्हीं परिवारों को मिलेगा जिनकी केवल दो बेटियां ही संतान है।
• जन्म साल 2005 के बाद- राज्य सरकार का कहना है कि इस योजना का लाभ उन्हीं बेटियों को मिलेगा जिनका जन्म 20 अगस्त, 2005 को या उसके बाद हुआ है।
• दूसरी बेटी को ही मिलेगा लाभ- योजना का लाभ उन माता-पिता को मिलेगा जिनके दूसरी बेटी ने जन्म लिया है। पहले हुई बेटी को उस योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा।
• जुड़वां लड़की- यदि किसी माता-पिता के पहली संतान एक बेटा है और दूसरी संतान पर जुड़वां बेटियां होती है तो उन्हें इस योजना का लाभ तत्काल प्रभाव से मिलेगा।
योजना के लिए जरूरी दस्तावेज
1.जन्म प्रमाण पत्र- माता-पिता की दोनों बेटियों का पंजीकरण व दोनों के जन्म प्रमाण-पत्र।
आधार कार्ड- माता- पिता व 2.लड़की का आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
3.गरीबी रेखा कार्ड- यदि इसके अंतर्गत आते हैं तो।
4.आय प्रमाण- पत्र
5.माता की पासपोर्ट फोटो
माता का आईडी कार्ड
6. मूल निवासी प्रमाणपत्र
7.जाति प्रमाण पत्र
8.बैंक पासबुक
इस योजना का लाभ उठाने के लिए अपने जिले के महिला एवं बाल विकास कार्यालय जाकर एक फॉर्म भरना होगा और सभी जरुरी दस्तावेज जमा करवाने होंगे। लाडली योजना का फॉर्म निकटतम आंगनबाड़ी केंद्र या जीवन बीमा कार्यालय से प्राप्त कर सकते हैं।

Related posts

हरियाणा में अपराधी बेलगाम, घर के बाहर बैठे पुलिसकर्मी को मारी गोली

Mukshan Verma

रोहतक में पति पत्नी बेटी और सास की हत्या मामले में बड़ा खुलासा, बेटा ही निकला हत्यारा

kharikharinews

इमानदारी के लिए संघर्ष- किसान के खाते में आए मुआवजे के ज्यादा पैसे, अब वापस देने के लिए 5 साल से काट रहा चक्कर

kharikharinews

Leave a Comment