Khari Khari News
News

करनाल में सरकार और किसानों के बीच बातचीत विफल, जानिये क्या हुआ ?

 

 

 

Kisan Mahapanchayat Karnal- करनाल के बसताड़ा में किसानों पर 28 अगस्त को लाठीचार्ज के मामले में आज अनाज मंडी में किसान महापंचायत का आयोजन किया गया है। इस महापंचायत में हजारों की संख्या में किसान पहुंचे हुए हैं।

इधर किसान महापंचायत के 11 सदस्यों की कमेटी प्रशासनिक अधिाकरियों से बातचीत करने के लिए पहुंची हुई थी। करनाल प्रशासन द्वारा मीटिंग की पेशकश पर किसान संयुक्त मोर्चा की ओर से राकेश टिकैत, बलबीर सिंह राजेवाल, गुरनाम सिंह चढूनी, डा. दर्शनपाल, राम पाल चहल, अजय राणा, सुखविंद्र सिंह, विकास सिसर, योगेंद्र यादव, कामरेड इंद्रजीत सिंह, सुरेश गोत को कमेटी में शामिल किया गया हैै।

प्रशासन और किसानों के बीच बातचीत विफल रही है। किसान नेता योगेंद्र यादव ने बताया कि प्रशासन के सामने उन्होंने अपनी मांगे रखी थी, लेकिन प्रशासन ने वो सभी मांगे मानने से इंकार कर दिया जिसके बाद आखिरी में एसडीएम पर कार्रवाई की मांग की थी जिससे भी प्रशासन ने खारिज कर दिया। अब हम फिर अनाज मंडी जा रहे हैं।

किसान नेता योगेंद्र यादव ने कहा, सरकार के आदेश के बाद करनाल डीसी ने प्रेसवार्ता करके इंटरनेट बंद करने और किसानों को आने से रोकने के लिए कहा गया था। संयुक्‍त किसान मोर्चा ने इसे एक चुनौती के तौर पर लिया। शाम को ही इस बारे में शीर्ष नेताओं ने बैठक करके मंथन किया। इसके बाद कूच किया गया।

Gurnam rakesh tikait and yogender yadav

चढ़ूनी ने कहा, प्रशासन ने वार्ता के लिए बुलाया है। प्रशासन ने कहा कि लघु सचिवालय में घेराव करने से पहले एक बार बात जरूर करें। चढ़ूनी ने मंच से ही लोगों की राय मांगी। उन्‍होंने कहा कि कूच करना चाहिए या नहीं। कुछ लोगों ने समर्थन किया तो कुछ लोगों ने इसे नकारा। वहीं चढ़ूनी ने वार्ता की बात की तो सभी ने समर्थन किया। प्रशासन ने 11 सदस्‍यीय कमेटी को वार्ता के लिए जिला लघु सचिवालय बुलाया है।

चढ़ूनी ने कहा, सूचना मिली है कि हमारे बीच कुछ लोग हथियार लेकर आए हैं। ये गलत है। अगर ऐसा है तो तुंरत उनकी पहचान करके मंच में लाया जाए। जो हथियार लेकर आए हैं। वो हमारे दुश्‍मन हैं। हमें वार नहीं करना है, शांतिपूर्ण ढ़ंग से बात रखनी है।

शहर में एंट्री के लिए सुबह दो पहिया व चार पहिया वाहनों को ढील दी गई थी, लेकिन 12 बजे किसानों के लघु सचिवालय के लिए कूच की रणनीति की सूचना के बाद नाकाबंदी पर सख्ती कर दी गई। यही हालात शहर के सभी एंट्री प्वायंट पर है। पुलिस पैदल जाने वालों को भी आवाजाही के लिए रोक रही है। आवाजाही बंद के कारण पुलिस की नाकों के दोनों तरफ वाहनों का जाम लगना शुरू हो गया है।

Kisan Mahapanchayat Karnal 3

अनाज मंडी में किसानों की महापंचायत के चलते सुरक्षा की हिदायत से शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है। बलड़ी बाइपास, अग्रसेन चौक, अंबेदकर चौक, बस स्टैंड, नमस्ते चौक, आइटीआइ चौक, सेक्टर-6 चौक, हांसी रोड, चिढ़ाव मोड, काछवा रोड स्थित पिंगली चौक के पास पुलिस का पहरा है।

महापंचायत से पहले ही करनाल में तेज बारिश हो रही है। वहीं, महापंचायत की वजह से प्रशासन भी अलर्ट है। करनाल में धारा 144 लागू है। दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर रूट डायवर्ट किया गया। करनाल, पानीपत सहित पांच जिलों में इंटरनेट और एसएमएस सेवाएं बंद कर दी गई हैं। वहीं, भाकियू प्रदेशाध्‍यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने एक वीडियो जारी किया है।

Kisan Mahapanchayat Karnal 333

हरियाणा सरकार के आदेशों के बाद कई जिलों की पुलिस के अलावा पैरामिलिट्री फोर्स बुला ली गई है। सरकार ने करनाल के अलावा कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद और पानीपत में भी सोमवार रात 12 बजे से इंटरनेट व एसएमएस सेवा बंद कर दी है। यह पाबंदी मंगलवार रात 12 बजे तक लागू रहेगी। पुलिस-प्रशासन का दावा है कि किसी भी सूरत में कानून-व्यवस्था भंग नहीं होने दी जाएगी।

Related posts

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार, धारा 188 के तहत हुई कार्यवाही

kharikharinews

करनाल में किसान महापंचायत, क्या-क्या हुए फैसले, देखें पूरी जानकारी

kharikharinews

दीक्षा एप पर पढ़ेंगे पहली से बारहवीं कक्षा तक के विद्यार्थी, विभाग ने शुरू की मॉनिटरिग

kharikharinews

Leave a Comment