Khari Khari News
News हरियाणा

अंशु मलिक को रजत पदक, सरिता मोर को कांस्य पदक, विश्व चैम्पियनशिप में भारतीय महिला पहलवानों का दबदबा

खेल जगत।कल ही विश्व चैम्पियनशिप फाइनल में पहुंचकर पहली भारतीय महिला पहलवान होने का गौरव हासिल करने वाली हरियाणा की बेटी अंशु मलिक को फाइनल मैच में हार का सामना करना पड़ा।57 किलोग्राम भारवर्ग में ओलम्पिक चैम्पियन हेलेन लूसी मारोलिस के खिलाफ फाइनल मैच में हार के साथ अंशु मलिक को रजत पदक से संतोष करना पड़ा।19 वर्षीय अंशु मलिक ने फाइनल मैच में आक्रामक खेल के साथ अपनी शुरुआत की लेकिन विरोधी पहलवान से पार पाने में कामयाब नही हो सकी।

अंशु मैच के पहले हाफ में 1-0 से आगे थी लेकिन दूसरे हाफ में हेलेन लूसी पूरी तरह हावी रही और अंशु का हाथ पकड़ टेकडाउन मूव के साथ 2-1 की बढ़त बनाई। उन्होंने अंशु के दाएं हाथ को नही छोड़ा तथा दो अंक और अर्जित करते हुए 4-1 की बढ़त बना ली।गत एशियाई चैंपियंन अंशु मलिक मैच के दौरान दर्द से कराहती हुई नजर आई लेकिन अमेरिकी पहलवान ने मैच में अपना दबदबा कायम रखते हुए भारतीय पहलवान को चित कर स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

फाइनल मैच में हार का गम अंशु मलिक की आंखों में साफ नजर आया और मैच के तुरंत बाद उन्हें चिकित्सीय सहायता लेनी पड़ी। अंशु मलिक हालांकि विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनीं। इससे पहले विनेश फौगाट, बबिता फौगाट, गीता फौगाट, पूजा ढांडा और एलका तोमर विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीत चुकी है।

इसी चैंपियनशिप में एक और भारतीय महिला पहलवान सरिता मोर ने 59 किलो भार वर्ग में कांस्य पदक जीतकर देश का गौरव बढ़ाने का काम किया। सरिता ने कांस्य पदक के प्ले ऑफ में स्वीडन की सारा योहाना को 8-2 से हराकर विश्व चैम्पियनशिप में पदक के सूखे को खत्म किया।

Related posts

भीषण हादसा- खंभे से टकराई ऑडी कार के उड़े परखच्चे, 7 लड़के लड़कियां मृत, हरियाणा के भी शामिल

kharikharinews

How to Use Auto AF Fine Tune on Your Nikon DSLR the Right Way

kharikharinews

किसानों के हक में फिर बोलें राज्यपाल सत्यपाल मलिक, केन्द्र से की MSP पर कानून बनाने की मांग

Mukshan Verma

Leave a Comment