Khari Khari News
News राजनीति हरियाणा

Ellenabad By Election: सियासत के अजीब रंग, जिनके खिलाफ पिछला चुनाव लड़ा,अब उन्हीं के लिए वोट मांग रहे हैं नेताजी

ऐलनाबाद उपचुनाव का सियासी रण बड़ा ही रोचक हों गया है।अनेक ऐसी चीजें देखने को मिल रही है जो वोटरों और सियासतदानों को एक ही चुनाव में दिखाई दे रही है. पिछले विधानसभा चुनावों में एक सीट पर कड़े प्रतिद्वंद्वी रहते हुए दोनों एक-दूसरे की खामियां गिनाते थे, अब दो साल में ही उन्हें सबसे अच्छा आदमी बताते हुए उनके लिए लोगों के बीच जाकर वोटों की अपील कर रहे हैं।

इसके अलावा ऐलनाबाद उपचुनाव में पहली बार चौटाला परिवार की सियासी जंग खुलकर सामने आई है। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था। जमकर जुबानी हमले किए जा रहे हैं। गोबिंद कांडा को भाजपा- जजपा ने अपने साझी उम्मीदवार के तौर पर चुनावी रण में उतारा है लेकिन अभी तक प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ को छोड़कर कोई बड़ा नेता उनके लिए प्रचार करने नहीं पहुंचा है। बीजेपी ने अपने सहयोगी दल जेजेपी को ऐलनाबाद उपचुनाव में प्रचार के लिए आगे किया हुआ है।

पहले जिसे हराया,अब उसी के लिए वोट

2019 के विधानसभा चुनावों में रानियां हल्के से हरियाणा लोकहित पार्टी से गोबिंद कांडा तो दूसरी तरफ कांग्रेस छोड़कर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में रणजीत चौटाला आमने-सामने थे। दोनों के बीच सियासी बयानबाजी जमकर देखने को मिली और आरोप-प्रत्यारोप लगाए। अब रणजीत चौटाला उसी गोबिंद कांडा के लिए वोट मांग रहे हैं। उनका कहना है कि अब मैं सरकार का मंत्री हूं और सरकार के प्रत्याशी के लिए प्रचार करना मेरा फ़र्ज़ बनता है।

भाजपा- कांग्रेस से लड़ें थे,अब साथ-2 प्रचार शुरू

2019 के आम चुनावों में कांग्रेस ने ऐलनाबाद से भरत सिंह बैनीवाल को टिकट दी थी तो वही बीजेपी ने पवन बैनीवाल को मैदान में उतारा था।पवन बैनीवाल ने कुछ दिन पहले किसान आंदोलन के समर्थन में भाजपा को अलविदा कह दिया और कांग्रेस पार्टी का दामन थामा। इसके साथ ही पार्टी की तरफ से ऐलनाबाद उपचुनाव की टिकट भी मिल गई। थोड़ी नाराजगी जाहिर करने के बाद अब भरत बैनीवाल भी उनके लिए ही वोट मांग रहे हैं।

परिवार को हराने के लिए एड़ी-चोटी का जोर

चौटाला परिवार में बिखराव हुआ, लेकिन ऐसा पहली बार है, जब परिवार के ही सदस्य को हराने के लिए जोर लगा दिया। उपचुनाव में जजपा नेता अजय इनेलो प्रत्याशी अभय के खिलाफ सबसे ज्यादा मुखर नजर आ रहे हैं। अजय ने पिछले दिनों यहां तक कह दिया कि 3 पीढ़ियां (ओपी चौटाला, अभय व कर्ण-अर्जुन) अब नाक रगड़ रहे हैं या नहीं।

Related posts

Apple Watch Takes Center Stage Amid iPhone Excitement

kharikharinews

12 वीं में आइटी व्यवसायिक कोर्स पास करने वाले विद्यार्थियों के लिए खुशखबरी, काउंसलिंग के साथ प्लेसमेंट भी

Mukshan Verma

दलित वोटबैंक कितना गेमचेंजर?

kharikharinews

Leave a Comment