Khari Khari News
News हरियाणा

बीजेपी- जेजेपी नेताओं के विरोध को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने किया अपनी रणनीति में बदलाव, जानें

तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन पिछले एक साल से जारी है। किसान आंदोलन के चलते हरियाणा में भी बीजेपी जेजेपी नेताओं का विरोध लगातार जारी है। सत्तासीन पार्टी के नेताओं के विरोध को लेकर अब संयुक्त किसान मोर्चा ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बयान जारी कर कहा है कि धार्मिक या निजी कार्यक्रम में पहुंचने पर इन नेताओं का विरोध नहीं किया जाएगा। हालांकि साथ ही यह भी कहा है कि कार्यक्रमों में यदि राजनीतिक बैनर या भाषणबाजी होती है तो विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

 

बुधवार को हरियाणा के खटकड़ टोल प्लाजा पर संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों ने एक बैठक की और इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि यदि कोई धार्मिक कार्यक्रम होगा और उसमें किसी भी नेता का बैनर या भाषणबाजी नहीं होगी तो वह उस कार्यक्रम का विरोध नहीं करेंगे। भाजपा जजपा नेता जहां भी भाषणबाजी करेंगे या उनका कार्यक्रम में बैनर लगा होगा, तों उसका विरोध पहले की तरह बदस्तूर जारी रहेगा।

 

खटकड़ टोल किसान समिति की ओर से इस बैठक में पहलवान सतीश बरसोला, कैप्टन भुपेंद्र जागलान व बिजेंद्र सिधुं समेत अन्य कई सदस्य शामिल हुएं। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश की बीजेपी सरकार धार्मिक कार्यक्रमों की आड़ में भाईचारे को खराब करना चाहती है लेकिन उनके मंसूबों को कामयाब नही होने दिया जाएगा। किसान आंदोलन को सभी बिरादरियों का समर्थन प्राप्त है और हम इन नेताओं के बहकावे में आकर आपस में लड़ने की बजाय एक होकर बड़ी मजबूती से किसान आंदोलन को आगे बढ़ाने का काम करेंगे।

Related posts

ऐलनाबाद उपचुनाव लड़ेंगे किसान, इस बड़े चेहरे का नाम किया फाइनल

Mukshan Verma

मनीष ग्रोवर बोले- बरोदा उपचुनाव में हार से बौखलाई कांग्रेस, झूठी अफवाह फैलाकर लोगों को किया जा रहा भ्रमित

kharikharinews

पलवल में पति पत्नी ने एक साथ लगा ली फांसी, एक साल पहले हुई थी शादी

kharikharinews

Leave a Comment