Khari Khari News
News

पंजाब के फैसले ने हरियाणा में “बिगाड़े” हुड्डा के समीकरण, शैलजा को हटाए जाने के “आसार” पूरी तरह खत्म

पंजाब के फैसले ने हरियाणा में “बिगाड़े” हुड्डा के समीकरण

शैलजा को हटाए जाने के “आसार” पूरी तरह खत्म

पंजाब में कांग्रेस की सरकार बनी तो हुड्डा की दावेदारी का “बंटाधार”

भूपेंद्र हुड्डा को 2 दिन में लगा दूसरा बड़ा झटका

कुलदीप श्योराण
चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस में मचे घमासान के दो दिन के घटनाक्रम ने हरियाणा कांग्रेस की सियासत को “बदल” दिया है। पंजाब में दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी का सीएम बनाना हरियाणा में जहां पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा के लिए 2 दिन में दूसरा बड़ा “झटका” है, वही हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुमारी शैलजा के लिए बेहद “राहत” भरा फैसला है

भूपेंद्र हुड्डा के बिगड़े समीकरण

कल अमरिंदर सिंह की मुख्यमंत्री पद से विदाई के साथ ही भूपेंद्र हुड्डा की प्रैशर पॉलिटिक्स की हवा “निकल” गई थी।
आज चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के साथ ही भूपेंद्र होगा के सियासी समीकरण पूरी तरह से “बिगड़” गए है। भूपेंद्र हुड्डा अभी तक पूरी तरह अमरिंदर सिंह के “नक्शे कदम” पर ही अपनी सियासत को चला रहे थे लेकिन अमरिंदर सिंह का अंजाम बेहद खराब होने के कारण अब हुड्डा के लिए उस रास्ते को छोड़ना “मजबूरी” हो गई है।

शैलजा को हटाए जाने के आसार खत्म

पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाए जाने के साथ ही हरियाणा में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शैलजा के कदम मजबूत हो गए हैं और उन्हें हटाए जाने के आसार पूरी तरह खत्म हो गए हैं।

पंजाब चुनाव तक कांग्रेस हाईकमान हरियाणा में अब कोई भी फेरबदल नहीं करेगा और शैलजा अध्यक्ष पद पर टिकी रहेंगी। अगर पंजाब में कांग्रेस सत्ता में आ गई तो हरियाणा में जहां शैलजा की अगुवाई में ही चुनाव बड़े जाने का “रास्ता” साफ हो जाएगा वही भूपेंद्र हुड्डा की दावेदारी का “बंटाधार” हो जाएगा

खरी खरी बात यह है कि कांग्रेस हाईकमान का पंजाब में लिया गया फैसला हरियाणा हरियाणा कांग्रेस के नए दौर की कहानी का “आगाज” कर गया है।

पंजाब कांग्रेस में अमरिंदर सिंह का तख्तापलट और चरणजीत सिंह चन्नी का सीएम बनना सीधे तौर पर भूपेंद्र हुड्डा के लिए बेहद नुकसानदायक और शैलजा के लिए बेहद फायदेमंद साबित होता दिख रहा है।

2 दिन पहले दीपेंद्र हुड्डा को उत्तर प्रदेश कांग्रेस चुनाव के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का सदस्य बनाए जाने से हुड्डा परिवार में रुतबा बढ़ने का जश्न मनाया जा रहा था लेकिन पंजाब में 2 दिन के दौरान हुए घटनाक्रम ने हुड्डा परिवार के लिए परेशानियों के नए पहाड़ खड़े कर दिए हैं।

भूपेंद्र हुड्डा के लिए अब कांग्रेस हाईकमान को आंख दिखाना या दबाव में डालना मुमकिन नहीं होगा क्योंकि अमरिंदर सिंह के अंजाम के कारण हुड्डा परिवार अब अपने सियासी खात्मे का “रिस्क” नहीं लेगा।

अगर पंजाब में कांग्रेस दोबारा सत्ता पर काबिज हो गई तो हरियाणा में भी उसका सीधा इफ़ेक्ट होगा और उन हालात में भूपेंद्र हुड्डा या दीपेंद्र हुड्डा के सीएम बनने के रास्ते पूरी तरह से बंद हो जाएंगे। 2 दिन पहले भूपेंद्र हुड्डा के घर में खुशियों की बहार थी और आज वहां पर सियासी मातम पसरा हुआ नजर आ रहा है।

Related posts

हरियाणा रोडवेज और ट्रक के बीच हुई जबरदस्त टक्कर, मौके पर दो की मौत कई यात्री घायल

kharikharinews

अफसरशाही ने खट्टर को बनाया खटारा CM\ Khattar image touching bottem Line

kharikharinews

Google to Pay Apple $3 Billion to Remain Default iOS Device Search Engine

kharikharinews

Leave a Comment