Khari Khari News
News राजनीति हरियाणा

किसानों की बात रखना पार्टी का विरोध नहीं: चौधरी बिरेंद्र सिंह

चंडीगढ़।पूर्व केंद्रीय मंत्री व हरियाणा के कद्दावर नेता चौधरी बिरेंदर सिंह की भाजपा कार्यसमिति में शामिल नहीं होने पर पहली प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा है कि जब भी कोई नया अध्यक्ष आता है तो अपनी कार्यकारिणी का गठन करता है। नई कार्यकारिणी का गठन करना सामान्य प्रक्रिया का हिस्सा है. इसमें शामिल न होना कोई बड़ी बात नहीं है. मैं इस मामले को ज्यादा गंभीर नहीं मानता हूं।

वहीं किसानों के मुद्दे पर बात रखना पार्टी का विरोध करना नहीं होता है।चौधरी बिरेंदर सिंह ने साफ कहा, मैं शुरूआत से ही किसान आंदोलन के समर्थन में बात कहता रहा हूं और मैंने हमेशा कहा है कि इस आंदोलन को बातचीत से सुलझाना चाहिए, वरना ये देश और किसान हित में नहीं है।

उन्होंने कहा है कि किसानों की बात रखना पार्टी विरोधी गतिविधियां नहीं है।जहां तक किसान और खेती की बात है तो बीरेंद्र सिंह की प्राथमिकता खेती और किसान हैं। किसानों के साथ खड़ा होना मेरा धर्म हैं और मेरी रगों में भी किसान का खून दौड़ रहा है।

वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के बयान पर चौधरी बिरेंदर सिंह की प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने अपना बयान वापस लेकर बड़प्पन दिखाया है। कभी-कभी किसी के प्रभाव में आकर व्यक्ति की जीभ फिसल जाती है और उसके मुंह से गैरजिम्मेदाराना बात निकल जाती है।वैसे भी हिंसा की कोई बात नहीं है, किसान अपने आंदोलन को बिल्कुल शांति पूर्ण तरीके से चला रहे हैं और मैं किसान संगठनों की इस बात के लिए प्रशंसा भी करता हूं।

Related posts

रैली को लेकर प्रदेश कांग्रेस में आर-पार की जंग

kharikharinews

केंद्रीय राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने चंडीगढ़ में की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कई बिंदुओं पर की चर्चा

kharikharinews

आपसी रंजीश के चलते युवक की पीटकर हत्या, जेल से पैरोल पर रिहा होकर आए थे आरोपी

kharikharinews

Leave a Comment