Khari Khari News
News हरियाणा

हिमाचल घूमने गए हरियाणा के 4 युवकों की मौत, 2 दिन बाद जंगल से मिलें शव

चंडीगढ़।हिमाचल प्रदेश घूमने गए हरियाणा के युवकों के साथ दर्दनाक सड़क दुघर्टना घटी है। इस सड़क दुघर्टना में चार युवकों की मौत हो गई। मिली जानकारी अनुसार चंडीगढ़ मनाली हाइवे पर कुछ दिन पहले एक सड़क दुघर्टना हुईं थीं। हालांकि इस दुर्घटना का जानकारी लोगों को मंगलवार शाम को मिली जब कार में सवार युवकों के शवों से दुर्गंध आने लगी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और गाड़ी को खाई से निकाला गया। इस दौरान पुलिस को चार युवकों के शव भी बरामद हुएं।यह दुर्घटना गंभर पुल के पास घटी है।

इस सड़क दुघर्टना में मारें गए चारों युवक हरियाणा के कैथल जिले के रहने वाले थे । चारों दोस्त मनाली में घूमने के लिए निकलें थे और रास्ते में उनकी कार अनियंत्रित होकर सड़क से 300 फीट गहरी खाई में जा गिरी। पुलिस ने बताया कि दुर्घटना दो दिन पहले यानी 3 अक्टूबर को घटित हुई है क्योंकि उसी दिन युवकों का परिवार से सम्पर्क टूटा था। पुलिस ने बताया कि तीन युवकों के शव कार में फंसे हुए थे तो एक युवक का शव बाहर झाड़ियों से बरामद हुआ है।

किसी को भी इस हादसे के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। युवकों के परिजनों ने जब उन्हें सम्पर्क करना चाहा तो किसी ने भी फोन नही उठाया। किसी अनहोनी की आंशका के चलते परिजनों ने कैथल पुलिस को सूचित किया और कैथल पुलिस ने इसकी सूचना बिलासपुर पुलिस को दी। पुलिस जांच में युवकों के फोन की लोकेशन स्वारघाट इलाके के पास मिली।जब स्वारघाट थाना पुलिस का एक कॉस्टेबल मंगलवार को गश्त पर था तो उसने गंभर पुल के पास पैरापिट टूटी दिखी।

शक के आधार पर जब हाईवे से करीब 300 फीट नीचे जाकर घने जंगल में सर्च अभियान चलाया गया तो युवकों की कार बरामद हुई। सभी युवक मृत पड़े थे। मृत युवकों की पहचान अभिषेक, मोहित, रोबिन और राहुल के रुप में हुई है और सभी युवकों की उम्र करीब 20-22 साल थी। पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से सभी युवकों को गहरी खाई से बाहर निकाला गया। मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए नालागढ़ अस्पताल पहुंचाया गया।

Related posts

अब सफर करना हुआ और भी महंगा, Delhi एक्सप्रेस वे पर हरियाणा और पंजाब में लगेंगे 21 टोल प्लाजा

kharikharinews

पंजाब सरकार ने नहीं दिया मुआवजा, अब पराली जलाएंगे किसान

kharikharinews

Kishan Aandolan: कल 6 घंटे तक रेल रोकेंगे किसान, संभलकर निकलें बाहर

Mukshan Verma

Leave a Comment