Khari Khari News
fami;y disputes India pati-patni jhagda social issues

बच्चों को सिर्फ अपनी “मिल्कियत” समझने वाले पेरेंट्स हो जाइए होशियार, बच्चों की कस्टडी को लेकर कोर्ट का बेहद खास फैसला

बच्चों को सिर्फ अपनी “मिल्कियत” समझने वाले पेरेंट्स हो जाइए होशियार

 

बच्चों की कस्टडी को लेकर कोर्ट का बेहद खास फैसला

बच्चों की कस्टडी पेरेंट्स को देना जरूरी नहीं

 

चंडीगढ़ हाई कोर्ट ने मां की अर्जी खारिज कर 5 साल की बच्ची सौंपी दादा दादी को

चंडीगढ़। आमतौर पर यह माना जाता है कि बच्चों की कस्टडी हासिल करना पेरेंट्स का अधिकार है लेकिन पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ़ ने इस अधिकार को खारिज करते हुए एक 5 साल कु बच्ची की कस्टडी मां की बजाय उसके दादा- दादी को सौंप दी।

बठिंडा की महिला ने हाईकोर्ट में याचिका दर्ज की थी कि उसके सास ससुर उसकी 5 साल की बेटी को जबरदस्ती अपने साथ बंधक बनाकर रखे हुए हैं और उसे उसकी बच्ची की कस्टडी दिलवाई जाए।

 

हाईकोर्ट के जज संत कुमार ने अपने जजमेंट में कहा कि बच्चों की कस्टडी में परवरिश सबसे ज्यादा मायने रखती है और इसके लिए पेरेंट्स का ही एकमात्र हक नहीं बनता है।
जजमेंट में कोर्ट ने बठिंडा चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट के उस बयान को शामिल किया जिसमें बच्ची ने अपने दादा दादी के साथ रहने का बात कही थी।

कोर्ट ने ये कहा दादा-दादी ने

कोर्ट में दादा -दादी ने बताया कि उनकी बहू ने अपने पति की जहर देकर हत्या कर दी थी और उसके बाद वह छोटी सी बच्ची को उनके पास छोड़ कर चली गई थी। अब वह निजी स्वार्थों के लिए बच्चे को अपने साथ ले जाना चाहती है।

 

अब महिला अपनी बेटी की कस्टडी मांगने के लिए कोर्ट में पहुंची थी कोर्ट ने महिला की याचिका को खारिज करते हुए दादा-दादी को 5 साल की बच्ची की कस्टडी सौंप दी।

 

कोर्ट ने कही यह खास बात

 

इस मामले में जजमेंट देते हुए जस्टिस संत कुमार ने कहा कि कस्टडी का मतलब सिर्फ फिजकल कस्टडी नहीं होता है बल्कि इसके साथ-साथ बच्चे की देखभाल, परवरिश का माहौल, बच्चे का भविष्य देखना भी सबसे जरूरी है। सिर्फ फिजिकली आधार पर कस्टडी देने से बच्चे के हित या जिंदगी सुरक्षित नहीं होती है।

 

जहां बच्चे की परवरिश की सबसे बेहतर गुंजाइश होती है वहीं उसे दिया जाना चाहिए। दादा दादी के साथ रहने से यह बच्ची ज्यादा महफूज नजर आती है इसलिए मां की अर्जी रिजैक्ट की जाती है।

Related posts

उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव ने लगातार दूसरे दिन भाजपा का बड़ा विकेट उखाड़ा, वन और पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चौहान ने भाजपा छोड़ी

kharikharinews

यूपी में 3 दिन में बदल गई चुनावी तस्वीर और तकरीर, 3 मंत्रियों और 14 विधायक का इस्तीफा भाजपा के लिए बड़ा झटका

kharikharinews

भारत में 70 साल बाद होगी चीतों की वापसी, जानिए किस राज्य में चीते भरेंगे रफ्तार !!

kharikharinews

Leave a Comment