Khari Khari News
News

ऐलनाबाद के दंगल में इनेलो की जीत पर दांव ज्यादा, देखिये सर्वे रिपोर्ट

काउंट डाउन -32

ऐलनाबाद के दंगल में इनेलो की जीत पर दांव ज्यादा
खरी खरी न्यूज़ के सर्वे में 65 फ़ीसदी लोगों ने बताया इनेलो की जीत
20 फ़ीसदी लोगों के राय में जीत सकती है कांग्रेस
बीजेपी और जेजेपी के पक्ष में 15% लोग

कुलदीप श्योराण
चंडीगढ़। ऐलनाबाद में 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव को लेकर सबसे पहले खरी खरी न्यूज़ द्वारा किए गए सर्वे में इनेलो का पलड़ा भारी रहा है।

सर्वे के शामिल होने वाले 65 फ़ीसदी लोगों का कहना है कि ऐलनाबाद में इनेलो जीत दर्ज करेगी।
कांग्रेस जीत की संभावनाओं के मामले में दूसरे नंबर पर रही है। 20% लोगों ने कांग्रेस की जीत के आसार बताए हैं।
बीजेपी और जेजेपी गठबंधन तीसरे नंबर पर रहा है जिसके जीतने के 15% लोगों ने चांस बताए हैं।

ऐलनाबाद उपचुनाव में किसकी होगी जीत के बारे में पूछे गए खरी खरी न्यूज़ के सवाल पर 30 हजार लोग इस सर्वे में शामिल हुए। लोगों के जवाब से साफ जाहिर हो रहा है कि ऐलनाबाद के उपचुनाव में इनेलो का पलड़ा भारी रहने के सबसे ज्यादा आसार हैं।
चौटाला परिवार का सबसे मजबूत गढ़ होने के कारण इनेलो की जीत पर दांव लगाने वाले लोगों की सबसे ज्यादा संख्या है।

ओम प्रकाश चौटाला के जेल से बाहर आने और किसान आंदोलन के समर्थन में अभय चौटाला द्वारा इस्तीफा दिए जाने के चलते ऐलनाबाद में इनेलो को पिछली बार से ज्यादा वोटों से जीत होने की उम्मीद जताई जा रही है।
कांग्रेस के पास भरत सिंह बेनीवाल और पवन बेनीवाल के तौर पर मजबूत प्रत्याशी होने के कारण कांग्रेस के समर्थक भी उनकी जीत के आसार जता रहे हैं।

बीजेपी और जेजेपी के पास कोई मजबूत प्रत्याशी नहीं होने के कारण उनकी जीत के आसार सबसे कम दिख रहे हैं।
2014 और 2019 के चुनाव में बीजेपी को दूसरे नंबर पर रखने वाले पवन बेनीवाल के कांग्रेस में शामिल होने के कारण बीजेपी की जीत का दावा हलका हो गया है।

जे जे पी को तो 2019 के चुनाव में सिर्फ 6500 ही वोट मिले थे जिसके चलते उसके चुनाव में उतरने पर गठबंधन को जीत की दौड़ से पहले ही बाहर माना जा रहा है। ऐलनाबाद में चौटाला परिवार को टक्कर देने में सक्षम कोई बड़ा चेहरा नहीं होने के कारण दोनों ही पार्टियों के लिए मजबूत प्रत्याशी की तलाश करना टेढ़ी खीर हो गई है। ऐलनाबाद में चौटाला परिवार का दबदबा और जीत का दावा सबसे भारी होने के कारण उपचुनाव के परिणाम की झलक पहले ही दिखाई दे रही है।

अब देखना यही है कि इनेलो को उसी के गढ़ में हराने के लिए कांग्रेस और बीजेपी-जेजेपी किन प्रत्याशियों को चुनावी दंगल में उतारते हैं और जीत हासिल करने के लिए कौन-कौन से पैंतरे आजमाते हैं। खरी खरी न्यूज़ के सर्वे से जाहिर हो गया है कि ऐलनाबाद की चुनावी जंग में इनेलो फिलहाल कांग्रेस और बीजेपी-जेजेपी पर से काफी आगे है और उसे रोकने के लिए दोनों ही खेमो को दिन रात एक करना पड़ेगा।

Related posts

UPSC पास करने वाली प्रीति बेनिवाल की सक्सेस स्टोरी: 14 ऑपरेशन, एक साल बेड पर; शादी टूटी लेकिन हिम्मत नहीं

Mukshan Verma

त्‍योहारी सीजन से पहले RBI ने ग्राहकों को दिया झटका, नहीं मिलेगी EMI पर राहत

kharikharinews

सीएम मनोहर लाल के बयान पर हुड्डा का पलटवार, कहा- ‘राजनीति छोड़ना चाहते हैं तो मंडियों का चक्कर लगा लें’

kharikharinews

Leave a Comment